Custom image
घोषणाएं
Thursday, 21 February 2019

सत्र 2019-20 कक्षा 1 में प्रवेश के लिए ऑनलाइन पंजीकरण दिनांक 01.03.2019(प्रात: 8:00 बजे से ) प्रारम्भ होगा | पूर्ण समय सारणी के लिए वेबसाइट के प्रवेश->प्रवेश सूचना लिंक पर विजिट करे |

सत्र 2019-20 के लिए  संविदा/अंशकालिक शिक्षकों के लिए आवेदन के लिए CONTRACTUAL EMPLOYMENT लिंक पर क्लिक करे |

विद्यालय से 3 शिक्षकों श्री गोरधन सिंह(पीजीटी-Eco),श्री आशीष कुमार जोशी (पीजीटी-संगणक),श्री चतुर्भुज मीना (टी.जी.टी-WET) ने जयपुर संभाग का क्षेत्रीय प्रोत्साहन पुरस्कार-2018 प्राप्त कर विद्यालय को गोरवान्वित किया है |

कक्षा VI,VII,VIII,IX,XI के Session Ending Datesheet के लिए शेक्षिक->परीक्षा-> परीक्षा समय सारणी देखे |

सत्र 2019-20 के लिए फर्म पंजीकरण के लिए होम पेज पर दिए हुए लिंक पर क्लिक करे |

प्राचार्य

श्री सुरेन्द्र कुमार बोर्दिया

(प्राचार्य)

banner
Banner

नवीनतम छायाचित्र

  • Photo Title 1
  • Photo Title 2
  • Photo Title 3
  • Photo Title 4
  • Photo Title 5

 

आज का सुविचार :

उज्ज्वल भारत का सपना-स्वच्छ वातावरण हो अपना ,स्वच्छ विचारों का प्रतिपादन

तभी होता है जब हम स्वच्छ वातावरण में विचरण करते हैं|

केन्द्रीय विद्यालयों के प्रमुख चार मिशन इस प्रकार है:-

· केन्द्रीय सरकार के स्थानांतरणीय कर्मचारियों जिनमें रक्षा तथा अर्धसैनिक बलों के कर्मी भी शामिल हैं , के बच्चों को शिक्षा के सामान्य कार्यक्रम के तहत शिक्षा प्रदान कर उनकी शैक्षिक अवश्यकताओं को पूरा करना ।

· विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता और गति निर्धारित करना ।

· केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सी.बी.एस.ई.) राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद् (एन.सी.ई.आर.टी.) इत्यादि जैसे अन्य निकायों के सहयोग से शिक्षा के क्षेत्र में नए-नए प्रयोग तथा नवाचार को सम्मिलित करना ।

· बच्चों में राष्ट्रीय एकता और ’भारतीयता’ की भावना का विकास करना ।

 

 

 

 

· केन्द्रीय सरकार के स्थानांतरणीय कर्मचारियों जिनमें रक्षा तथा अर्धसैनिक बलों के कर्मी भी शामिल हैं , के बच्चों को शिक्षा के सामान्य कार्यक्रम के तहत शिक्षा प्रदान कर उनकी शैक्षिक अवश्यकताओं को पूरा करना ।

· विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठता और गति निर्धारित करना ।

· केन्द्रीय माध्यमिक षिक्षा बोर्ड (सी.बी.एस.ई.) राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद् (एन.सी.ई.आर.टी.) इत्यादि जैसे अन्य निकायों के सहयोग से शिक्षा के क्षेत्र में नए-नए प्रयोग तथा नवाचार को सम्मिलित करना ।

· बच्चों में राष्ट्रीय एकता और ’भारतीयता’ की भावना का विकास करना ।

Last Updated (Saturday, 23 February 2019 16:02)